टेक्नॉलॉजी

Motorola One और Motorola One Power लॉन्च, जानिए फीचर्स

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Sep 1 2018 2:37PM

मोटोरोला ने IFA 2018 में अपने 2 नए स्मार्टफोन लॉन्च किए हैं। मोटो के इन स्मार्टफोन्स का नाम Motorola One और Motorola One Power है। इन स्मार्टफोन्स की खासियत की बात करें तो दोनों ही फोन्स में एंड्रायड वन दिया गया है। Motorola One में स्नैपड्रैगन 636 प्रोसेसर दिया गया है वहीं, Motorola One Power में स्नैपड्रैगन 625 प्रोसेसर है।Motorola One Power नॉच डिसप्ले के साथ आता है।

Motorola One के स्पेसिफिकेशन

- मोटो वन में 5.9 इंच का एचडी+ मैक्स विज़न एलसीडी डिस्प्ले दिया गया है।

- एंड्रॉयड 8.1 ओरियो पर काम करता है।

- स्मार्टफोन क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 625 प्रोसेसर से लैस है।

- कैमरे की बात करें तो फोन में डुअल रियर सेटअप दिया गया है। फोन में 13 mp के 2 रियर सेंसर हैं। फ्रंट में कंपनी ने 8mp का सेंसर दिया है।

- फोन में 4 जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज मिलेगी, जिसे एसडी कार्ड की मदद से 256 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है।

- बैटरी 3000 एमएएच की है जो टर्बोपावर चार्जिंग को सपोर्ट करती है।

- फोन को अनलॉक करने के लिए फिंगरप्रिंट सेंसर फोन के पिछले हिस्से पर है।

-कनेक्टिविटी के लिए फोन में 4जी एलटीई, ब्लूटूथ 5.0, वाई-फाई 802.11एसी, यूएसबी टाइप-सी और 3.5 एमएम हेडफोन जैक शामिल हैं।

Motorola One Power के स्पेसिफिकेशन

- फोन में 6.2 इंच का फुल-एचडी+ (1080x2246 पिक्सल) एलसीडी मैक्स विज़न दिया गया है।

- स्मार्टफोन एंड्रॉयड 8.1 ओरियो पर काम करता है।

- वन पावर में ऑक्टा-कोर क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 636 प्रोसेसर दिया गया है।

- स्मार्टफोन में डुअल रियर सेटअप है। प्राइमरी सेंसर 16 मेगापिक्सल का है और सेकेंडरी सेंसर 5 मेगापिक्सल का है। सेल्फी के शौकीनो के लिए इस फोन के फ्रंट में 12 मेगापिक्सल का सेंसर दिया गया है।

- फोन में बैटरी 4,850 एमएएच की है।

-फोन में फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया है।

मोटो के ये स्मार्टफोन भारत में अक्टूबर में लॉन्च हो सकते हैं। इनकी कीमत को लेकर अभी जानकारी नहीं है।

शेयर करें:

लोकप्रिय खबरें

ओवैसी ने अमित शाह से पूछा तीखा सवाल- क्या भाजपा मुझे भी गाय देगीबात से पलटी कांग्रेस, कहा- आरएसएस पर प्रतिबंध लगाने की बात नहीं कहीममता को बड़ा झटका, पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव अकेले लड़ेगी कांग्रेसअनंत कुमार के निधन से देश ने अपना अमूल्य रत्न खो दिया: रघुवर दास