सचिन तेंदुलकर ने स्पार्टन स्पोर्ट्स से तोड़ा नाता, सलाहकार बोर्ड के थे सदस्य

सचिन तेंदुलकर ने स्पार्टन स्पोर्ट्स से तोड़ा नाता, सलाहकार बोर्ड के थे सदस्य

प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Jan 11 2019 5:40PM

नयी दिल्ली। महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने करोड़ों रुपये का भुगतान नहीं होने के कारण स्पार्टन स्पोर्ट्स के साथ नाता तोड़ दिया है। तेंदुलकर इस कंपनी में निवेशक और सलाहकार बोर्ड के सदस्य थे। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ढेरों रिकार्ड अपने नाम करने वाले 45 साल के तेंदुलकर ने सिडनी स्थित इस कंपनी के साथ 2016 में करार किया था। भारतीय उद्योगपति कुणाल शर्मा इस कंपनी के सह संस्थापक थे।

इसे भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर और कांबली ने दिवगंत कोच आचरेकर को याद किया

कंपनी ने तेंदुलकर के अलावा भारत के विश्व कप विजेता कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, वेस्टइंडीज के आक्रामक सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल और इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन सहित खेल के अन्य बड़े नामों के साथ भी करार किया था। आस्ट्रेलिया की एक अदालत ने हाल में इस खेल पोशाक और उपकरण बनाने वाली कंपनी को बेचने का आदेश दिया था जिसका स्पार्टन स्पोर्ट्स के साथ खिलाड़ियों के जुड़ाव पर असर पड़ सकता था। विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि कंपनी के भुगतान करने में नाकाम रहने के कारण कुछ क्रिकेटरों को वित्तीय नुकसान का सामना करना पड़ा।

इसे भी पढ़ें: लैंगर को पुजारा में दिखा सचिन और द्रविड़ का अंश, बोले- कमाल की है एकाग्रता

सूत्र ने कहा, ‘यह भारत और अन्य एशियाई देशों में खेल सामान बनाने के व्यवसाय में कंपनी की प्रगति को रोक देगा। स्पार्टन के साथ नाता तोड़ने वालों में वह (तेंदुलकर) पहला बड़ा नाम है जबकि धोनी और मिशेल जानसन जैसे खिलाड़ी कानूनी कार्रवाई की धमकी दे चुके हैं या कार्रवाई कर रहे हैं।’ स्पार्टन स्पोर्ट्स का करदाताओं पर 60 करोड़ रुपये बकाया है और अगर बिक्री की प्रक्रिया शुरू होती है तो खिलाड़ियों को बड़े नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने इस कंपनी के साथ बल्ला प्रायोजन करार किया था लेकिन अपने करियर के अंतिम चरण में स्पार्टन के लोगो का इस्तेमाल करना बंद कर दिया जबकि जानसन ने इसके खिलाफ मामला दर्ज कराया।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप