BCCI भी आएगा NADA के दायरे में, खेल सचिव ने की पुष्टि

BCCI भी आएगा NADA के दायरे में, खेल सचिव ने की पुष्टि

nidhi@prabhasakshi.com | Aug 9 2019 3:17PM

नयी दिल्ली। बरसों तक नानुकुर करने के बाद आखिरकार भारतीय क्रिकेट बोर्ड राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी (नाडा) के दायरे में आने को तैयार हो गया है। खेल सचिव राधेश्याम जुलानिया ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। बीसीसीआई सीईओ राहुज जोहरी से शुक्रवार को मुलाकात के बाद जुलानिया ने कहा कि बोर्ड ने लिखित में दिया है कि वह नाडा की डोपिंग निरोधक नीति का पालन करेगा। 

इसे भी पढ़ें: आखिर क्यों हितों के टकराव से भारतीय क्रिकेट को खतरा है !

उन्होंने कहा कि अब सभी क्रिकेटरों का टेस्ट नाडा करेगी। उन्होंने कहा कि बीसीसीआई ने हमारे सामने तीन मसले रखे जिसमें डोप टेस्ट किट्स की गुणवत्ता, पैथालाजिस्ट की काबिलियत और नमूने इकट्ठे करने की प्रक्रिया शामिल थी।

इसे भी पढ़ें: भारत के राजस्व में कटौती चाहती है ICC, ब्रिटिश लॉ फर्म की सेवायें लेगा BCCI

उन्होंने कहा कि हमने उन्हें आश्वस्त किया कि उन्हें उनकी जरूरत के मुताबिक सुविधायें दी जायेंगी लेकिन उसका कुछ शुल्क लगेगा। बीसीसीआई दूसरों से अलग नहीं है। अब तक बीसीसीआई नाडा के दायरे में आने से इनकार करता आया है। उसका दावा रहा है कि वह स्वायत्त ईकाई है , कोई राष्ट्रीय खेल महासंघ नहीं और सरकार से फंडिंग नहीं लेता। 

इसे भी पढ़ें: गांगुली और हरभजन ने क्यों कहा, "भारतीय क्रिकेट को ईश्वर बचाए"

खेल मंत्रालय लगातार कहता आया है कि उसे नाडा के अंतर्गत आना होगा। हाल ही में उसने दक्षिण अफ्रीका ए और महिला टीमों के दौरों को मंजूरी रोक दी थी जिसके बाद अटकलें लगाई जा रही थी कि बीसीसीआई पर नाडा के दायरे में आने के लिये दबाव बनाने के मकसद से ऐसा किया गया। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप