अफरीदी ने जड़ा था मोहम्मद आमिर को थप्पड़ फिर निकला कबूलनामा...

अफरीदी ने जड़ा था मोहम्मद आमिर को थप्पड़ फिर निकला कबूलनामा...

प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Jun 12 2019 4:56PM

कराची। पाकिस्तान के पूर्व हरफनमौला अब्दुल रज्जाक ने दावा किया है कि एकदिवसीय टीम के तत्कालीन कप्तान शाहिद अफरीदी से थप्पड़ खाने के बाद तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने स्पॉट फिक्सिंग में संलिप्तता कबूल की थी जबकि सलामी बल्लेबाज सलमान बट 2011 के इंग्लैंड दौरे से पहले ही इस तरह के भ्रष्टाचार में शामिल थे। पाकिस्तान क्रिकेट की छवि को धूमिल करने वाली इस घटना का जिक्र रज्जाक ने जीएनएन चैनल से किया। रज्जाक ने कहा कि अफरीदी ने मुझे कमरे से बाहर जाने के लिए कहा लेकिन थोड़ी देर बाद मैंने थप्पड़ की गूंज सुनी और फिर आमिर ने सच्चाई बयां की। इस हरफनमौला ने हालांकि स्थिति से ठीक से नहीं निपटने के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को जिम्मेदार ठहराया। 

इसे भी पढ़ें: यूरो T20 स्लैम के आइकन खिलाड़ी होंगे इयोन मोर्गन

उन्होंने कहा कि पीसीबी अपनी कार्यकुशलता साबित करने के लिए आईसीसी के पास चला गया लेकिन उसे ऐसा करने की बजाय खुद ही तीनों खिलाड़ियों से बात कर घर वापस भेज देना चाहिए था और एक साल या कुछ समय के लिए प्रतिबंध लगा देना चाहिए था। ऐसा नहीं करके पीसीबी ने दुनिया भर में पाकिस्तान क्रिकेट की छवि को खराब किया। रज्जाक ने दावा किया कि बट इंग्लैंड की घटना से पहले ही जानबूझ कर आउट हो रहे थे। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी चिंताओं से अफरीदी को अवगत कराया था लेकिन उन्होंने कहा कि यह सिर्फ मेरा वहम है और ऐसा कुछ नहीं है। लेकिन वेस्टइंडीज में टी20 विश्व कप के दौरान जब मैं बट के साथ बल्लेबाजी कर रहा था तभी इस बात को लेकर आश्वस्त था कि वह जानबूझ कर खराब प्रदर्शन कर रहा है।

इसे भी पढ़ें: शोएब अख्तर ने अफरीदी का किया समर्थन कहा, सिनियर खिलाड़ी उनके साथ करते थे बुरा व्यवहार

रज्जाक ने बताया कि उन्होंने बट से एक रन लेकर उन्हें स्ट्राइक देने को कहा लेकन बट ने अनसुना कर दिया। उन्होंने कहा कि इस रणनीति को उन्होंने अनसुना कर दिया जिसे देखकर मैं आश्चर्यचकित था। तब मुझे लगा कि वह जानबूझकर ऐसा कर रहा है और फिर मैंने कड़ाई से उसे स्ट्राइक देने को कहा। इसके बाद भी वह दो-तीन गेंद खेलकर मुझे स्ट्राइक देता था। मुझे इससे निराशा हुई और दबाव में मैं आउट हो गया। बट, आमिर और मोहम्मद आसिफ को फिक्सिंग का दोषी पाये जाने के बाद 2011 में आईसीसी ने पांच साल के लिए निलंबित कर दिया था। तीनों खिलाड़ियों ने अपना निलंबन पूरा कर लिया है और अब क्रिकेट के मैदान पर वापसी कर चुके हैं लेकिन राष्ट्रीय टीम के लिए सिर्फ आमिर का चयन हुआ है जो विश्व कप की टीम का हिस्सा हैं। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप

भाजपा को जिताए
भाजपा को जिताए