सीएम कमलनाथ का खून बहाने की धमकी देने वाले भाजपा के पूर्व विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह गिरफ्तार

सीएम कमलनाथ का खून बहाने की धमकी देने वाले भाजपा के पूर्व विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह गिरफ्तार

दिनेश शु्क्ल | Jul 19 2019 4:05PM

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में गुरूवार को फेरीवालों और बिजली बिलों की समस्या को लेकर भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष सुरेन्द्र नाथ सिंह के विधानसभा घेराव के दौरान सड़को पर खून बहाने के बयान के बाद राजनीति गरमा गई है। भोपाल की मध्य विधासनसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक रहे सुरेन्द्र नाथ सिंह ने प्रदेश की कमलनाथ सरकार को चेतवनी देते हुए गुरूवार को कहा था कि अगर सरकार ने गरीबों की रोजी रोटी छीनने की कोशिश की तो वह और उनके समर्थक सीएम हाउस और मंत्रालय में प्रमुख सचिव कार्यालय में धरना देगें और वहीं मगोड़े भी तलेगें।

इससे पहले विधानसभा घेराव के लिए निकले बीजेपी के पूर्व विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह और उनके समर्थकों को पुलिस ने बीचे में ही रोक दिया था। जिसके बाद उन्होनें प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार गरीबों के पेट पर लात मार रही है। सुरेन्द्र नाथ सिंह का कहना था कि छोटे-छोटे व्यवसाय करने वाले व्यापारी जिन्होनें शहर के विभिन्न हिस्सों में गुमटियाँ लगाकर अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे थे नई सरकार आते ही उन्होनें यह गुमटियाँ हटा दी। यही नहीं गरीबी रेखा के नीचे गुजारा करने वाले लोगों के लिए पूर्व में बीजेपी की शिवराज सरकार ने संबंल योजना के तहत 200 रूपए में बिजली देकर इनके भारी भरकम बिजली बिल माफ किए थे। लेकिन काँग्रेस की सरकार आते ही फिर से इन गरीबों को बिजली विभाग ने भारी भरकम बिल भेज दिए।  
बीजेपी के पूर्व जिला अध्यश्र रहे सुरेन्द्र नाथ सिंह काँग्रेस की कमलनाथ सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर कमलनाथ सरकार ने उनकी माँगे नहीं मानी तो वह मंत्रालय में प्रमुख सचिव कार्यालय और सीएम हाउस में धरना देगें और पकोड़े तलेगें। इस दौरान सुरेन्द्र नाथ सिंह ने यहां तक कह दिया कि गरीबों के पेट पर लात मारने वाले कमलनाथ सरकार ने जल्द ही कोई फैसला नहीं किया तो सड़को पर खून भी बह सकता है और यह खून कमलनाथ का होगा। उसके बाद पूर्व विधायक ने नगर निगम में अतिक्रमण दस्ते को कर्मचारी को भी फोन पर धमकी दे दी जिसका आडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसमें पूर्व विधायक ने धमकी देते हुए कहा कि अतिक्रमण की गाड़ीयां नज़र नहीं आना चाहिए क्योंकि आज राजधानी में जोरदार प्रदर्शन कर दिया है और कल से कहीं भी अतिक्रमण की गाड़ी नज़र आएगी तो फिर मैं उसमें आग लगा दूँगा। कल से राजधानी में हमारी टीम घूमेंगी और यदि कोई दिख गया तो फिर दो चार लोगों को नंगा करके ही छोड़ेगी। जिसके बाद पुलिस ने उनके खिलाफ भारतीय दंड सहिंता की धारा 506, 507 के तहत मामला दर्ज कर लिया और उन्हें शुक्रवार को गिरफ्तार भी कर लिया। पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के करीबी बताए जाते हैं।
 
विधानसभा सत्र के दौरान इस मामले को लेकर जहाँ सत्ता पक्ष ने हंगामा किया तो वही विपक्ष ने अपने पूर्व विधायक का बचाव किया। जबकि बीजेपी सरकार में पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे नरोत्तम मिश्रा ने सुरेन्द्रनाथ सिंह के बयान को उचिन नहीं मानते हुए कहा कि परिस्थिति चैहे जितनी ही विषम क्यों न हो सुरेन्द्र नाथ  को भाषा पर संयम रखना चाहिए। यही नहीं उनके खिलाफ कर्मचारीयों ने भी मोर्चा खोल दिया। कुल मिलाकर बात की जाए तो पूर्व विधायक के लिए यह कहाबत चरितार्थ होती नज़र आ रही है कि गए थे हरि भजन को ओटन लगे कपास।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप