राष्ट्रीय

घोटालों में फंसने के बाद पाकिस्तान का राग अलापती है BJP: सुरजेवाला

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Sep 24 2018 3:53PM

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि भाजपा जब भी घोटालों में फंसती है तो उसे अपने बचाव के लिए पाकिस्तान की याद आती है और वह राफेल मामले में भी यही कर रही है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी दावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने पाकिस्तान के सामने घुटने टेक दिए हैं। सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘राफेल घोटाले में रंगे हाथ पकड़े जाने के बाद भाजपा घबराई हुई है। वह घबराकर ऊल-जलूल बातें कर रही है। भाजपा जब भी घोटाले में फंसती है तो उसे अपने बचाव में पाकिस्तान पहले याद आता है।’

उन्होंने सवाल किया, ‘हम प्रधानमंत्री जी से कुछ सवाल पूछना चाहते हैं। क्या प्रधानमंत्री जी का पाकिस्तान प्रेम तब नहीं जागा था जब वह नवाज शरीफ के साथ साड़ी और शॉल का आदान प्रदान कर रहे थे? क्या मोदी सरकार का पाकिस्तान प्रेम तब नहीं जागा था जब प्रधानमंत्री बिना बुलाए पाकिस्तान गए और पाकिस्तान ने पठानकोट में हमला करवाया? क्या पाकिस्तान प्रेम तब नहीं जागा था जब मोदी जी और अमित शाह ने आईएसआई को जांच के लिए भारत बुलाया था?’

कांग्रेस नेता ने पूछा, ‘क्या मोदी जी का पाकिस्तान प्रेम उस दिन नहीं जागा था जब आपने जम्मू-कश्मीर में पीडीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई थी? क्या पाकिस्तान के प्रति प्रेम उस दिन नहीं जागा था जब मध्य प्रदेश भाजपा के आईटी सेल के कुछ लोग आईएसआई के लिए जासूसी करते हुए पकड़े गए थे?’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘मोदी सरकार एक कमजोर सरकार है। जवानों के साथ बर्बरता हो रही हे और यह सरकार पाकिस्तान के साथ बातचीत कर रही है। इसने पाकिस्तान के सामने घुटने टेक दिए हैं।’

दरअसल, भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने सोमवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस और पाकिस्तानी नेता दोनों प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भारतीय राजनीति से हटाना चाहते हैं। पात्रा ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान तथा कुछ वर्तमान एवं पूर्व मंत्रियों के ट्वीट का हवाला दिया और दावा किया कि ये सभी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिये अभियान चला रहे हैं।

शेयर करें:

लोकप्रिय खबरें

PM मोदी के कहने पर अकबर का इस्तीफा, रमानी को अब कोर्ट से न्याय की उम्मीदभाजपा को बड़ा झटका, मानवेंद्र सिंह और आशीष देशमुख कांग्रेस में शामिलभाजपा का नारा 'बेटी बचाओ' की जगह 'एमजे अकबर' बचाओ हो गया हैहिन्दुओं की कमजोरी के चलते हिंदू धार्मिक संस्थाएं केरल सरकार के निशाने पर