कार कंपनियों ने ट्रंप से उत्सर्जन नियमों में ढील नहीं देने का किया अनुरोध

कार कंपनियों ने ट्रंप से उत्सर्जन नियमों में ढील नहीं देने का किया अनुरोध

प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Jun 7 2019 6:35PM

वाशिंगटन। दर्जनभर से अधिक कार कंपनियों ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से आधिकारिक तौर पर उत्सर्जन नियमों में ढील नहीं देने को कहा है। ढ़ील से कार बाजार के विखंडित होने का अंदेशा है। मीडिया रपटों के अनुसार अनुरोध करने वालों में फोर्ड, जनरल मोटर्स, टोयोटा, होंडा और फॉक्सवैगन जैसी बड़ी कंपनियां भी शामिल हैं। ट्रंप सरकार ने पिछले साल पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा लाए गए ईंधन दक्षता मानकों को वापस लेने का प्रस्ताव किया था। इससे कैलिफोर्निया समेत उन सभी राज्यों के साथ कानूनी लड़ाई छिड़ने का खतरा हो गया है जो अधिक कठोर उत्सर्जन मानक अपनाने की नीति के पक्ष में हैं। 

इसे भी पढ़ें: ट्रंप ने जलवायु परिवर्तन पर पर्याप्त कदम नहीं उठाने के लिए भारत, चीन को ठहराया जिम्मेदार

न्यूयॉर्क टाइम्स में बृहस्पतिवार को छपी एक खबर के अनुसार कार कंपनियों ने राष्ट्रपति कार्यालय को पत्र लिखकर उत्सर्जन नियमों को हल्का करने की इच्छुक संघीय सरकार और कड़े नियम के पक्षधर देश के सबसे अधिक जनसंख्या वाले राज्यों के बीच समझौते की जरूरत पर बल दिया है। कैलिफोर्निया एवं दर्जनभर अन्य राज्यों के इस मुद्दे पर अदालत में जाने की संभावना को देखते हुए कार कंपनियों को अमेरिकी कार बाजार में बंटवारा होने का अंदेशा है। इसके चलते उन्हें कार बेचने और उनकी कीमत तय करने में दिक्कतें पेश आ सकती हैं।
जब ट्रंप राष्ट्रपति बने थे तो कार कंपनियों ने उन्हें ओबामा द्वारा लागू की गयी उत्सर्जन सीमा को बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित किया था। लेकिन अब व्हाइट हाउस के उत्साह को देखकर उन्हें चिंता है कि यह उन्हें कमजोर करेगा। इसी तरह का एक पत्र कंपनियों ने कैलिफोर्निया के गवर्नर को लिखा गया है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप

भाजपा को जिताए
भाजपा को जिताए