क्रिकेट के महामानव आंद्रे रसेल का नहीं है कोई भी तोड़ !

क्रिकेट के महामानव आंद्रे रसेल का नहीं है कोई भी तोड़ !

दीपक कुमार मिश्रा | Apr 6 2019 4:24PM
क्रिकेट के खेल में हर दिन नया और रोमांचक होता है। इस खेल की सबसे बड़ी ताकत यही है कि यहां कभी भी पासा पलट जाता है और खेल दूसरी टीम के कब्जे में होता है। क्रिकेट के खेल में सबसे रोचक चीज यह है कि यहां अकेला खिलाड़ी आपको जीत दिला देता है। वही बिना टीम के अच्छे प्रदर्शन के आप कुछ भी नहीं कर सकते है। क्रिकेट के खेल के सबसे मंहगे और मनोरंजक लीग में कुछ ऐसा ही चल रहा है। यहां पूरी टीम कभी अकेले एक खिलाड़ी को नहीं रोक पा रही है, तो कभी किसी एक खिलाड़ी की मेहनत को पूरी टीम बर्बाद कर देती है। आईपीएल में रॉयल चैलेंजर बैंगलोर और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच मैच में कुछ ऐसा ही हुआ। यहां आंद्रे रसेल का एक ऐसा तूफान आया जो आरसीबी की नैया को डूबा ले गया। यहां एक खिलाड़ी ने पूरी टीम को धो दिया। वहीं दूसरी तरफ आरसीबी ने अपने कप्तान विराट कोहली की शानदार पारी में मिलकर पानी डाल दिया। मौजूदा दौर में टी-20 क्रिकेट अपने चरम पर है।यहां मैच दूसरे क्रिकेट मुकाबलों के बजाय जल्दी खत्म हो जाते है। यहां आपको तीन से चार घंटे के बीच क्रिकेट का वो रोमांच मिल जाता है, जिसके बाद दर्शक पैसा वसूल हुआ पाते है। फटाफट क्रिकेट के दौर में कई खिलाड़ी ऐसे है जिनका कोई तोड़ नहीं है। इसी क्रम में सबसे बड़ा और सटीक नाम आता है कैरिबियन खिलाड़ी और आईपीएल में केकेआर की तरफ से खेलने वाले आंद्र रसेल का जिसके ताबड़तोड़ छक्कों की कहानी हर क्रिकेट प्रेमी के जुबान पर कहानियों की तरह रटी हुई है।
आईपीएल की शुरूआत हुए लगभग दो सप्ताह से ज्यादा हो चुके है। पिछले हर सीजन की तरफ इस बार भी कई मैच ऐसे हुए जहां आखिरी समय पर रोमांच ने सारी हदे पार कर दी। हर बार के आईपीएल के तरह इस बार भी कई खिलाड़ी हीरो बनकर निकले जिन्होंने अपने दम पर पूरी टीम का बेड़ा पार कर दिया। इस बार के आईपीएल में अभी तक कई खिलाड़ी उभरकर आएं। जहां कई बड़े और मंहगे खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से सबको निराश कर दिया वहीं कई युवा खिलाड़ियों ने दुनिया को बताया कि वो क्रिकेट का भविष्य है। लेकिन इन सबके बीच आंद्रे रसेल एक ऐसा नाम है, जो आईपीएल-12 के शुरूआत से लगातार छा रहा है। रसेल इस सीजन में केकेआर के लिए अकेले आर्मी की तरह लड़ाई कर रहे है। जब भी उनके हाथ में बल्ला आता है तो स्कोर कुछ भी हो वो उनके पहुंच से दूर नहीं होता है। रसेल के हाथ में जब भी बैट होता है तो बल्लेबाजी बिल्कुल आसान दिखाई देती है। वहीं गेंदबाजों की सिर्फ और सिर्फ धुनाई ही नजर आती है। रसेल जब भी मैदान में उतरते है तो सामने वाली टीम के गेंदबाजों में खौफ साफ नजर आता है। क्योंकि जब भी रसेल का बल्ला चलता है तो गेंद बाउंड्री का रास्ता ही नापती नजर आती है।
 
आईपीएल में रसेल का नहीं है कोई भी जवाब
रॉयल चैलेंजर बैंगलोर के खिलाफ बल्लेबाजी करने उतरे रसेल के सामने टीम को जीत दिलाने के लिए 3 ओवरों में लगभग 53 रनों की दरकार थी। इस समय केकेआर की टीम काफी पीछे नजरआ रही थी। उस समय यह लग रहा थी कि शायद आरसीबी को इस सीजन की पहली जीत नसीब हो जाएं। लेकिन इस वक्त मैदान में कैरेबियन फ्लेवर का वो बल्लेबाज उतर रहा था। जिसको देखते ही पुराने जमाने के वेस्ट इंडियन खिलाड़ियों की यादें ताजा हो जाएं। लंबी कद काठी वाले रसेल के हाथ में बल्ला आने पर वो वन मैन आर्मी हो जाते है। आईपीएल के इस सीजन में वो 3 बार ऐसा कर चुके थे और आरसीबी के खिलाफ भी वो ऐसा ही करने के इरादे से मैदान पर उतरे थे। रसेल ने मैच में 13 गेंदों में नाबाद 48 रन की पारी खेली और उनका स्ट्राइक रेट 369.23 का था। इस दौरान उन्होंने 7 गगनचुंबी छक्के जड मैच केकेआर के झोली में डाल दिया। रसेल की पारी को देखकर पूरा क्रिकेट जगत सोच में पड़ गया था कि आखिर टी-20 क्रिकेट में इस खिलाड़ी का तोड़ कैसे नहीं है। रसेल का इस सीजन के 4 मैचों में 257, 282, 221 और 369 का है। ये इस खिलाड़ी की काबिलियत को दर्शाता है कि वो किस तरह से गेंदबाजों की धज्जियां उड़ा सकता है। गेंद को इस तरह से हिट करने के बारे में अपनी काबिलियत पर रसेल का कहना है कि “बल्लेबाजी के दौरान अगर गेंद स्लॉट होती है तो मैं बड़ा शॉट खेलता हूं। मैं कई साल से ये काम कर रहा हूं और मेरी ये योजना काम भी कर रही है जिससे मैं काफी खुश हूं”।
साफ है रसेल जिस समय अपनी टीम के लिए बल्लेबाजी करने आते है। उस समय हालात काफी नाजुक होते है। टीम को कम गेंदों में ज्यादा रनों की दरकार होती है। वहीं रसेल भी ऐसा करने में पूरी तरह से सक्षम है। जिसका फायदा आईपीएल में उनकी टीम केकेआर को होता है। उम्मीद है आईपीएल के आने वाले मैचों में रसेल का इस तरह का प्रदर्शन जारी रहेगा और वो टीम को लगातार जीत दिलाते रहने के साथ क्रिकेट प्रेमियों के मनोरंजन में भी कोई कमी नहीं छोड़ेंगे।
 
- दीपक कुमार मिश्रा

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.