रुपये में सुधार से शेयर बाजारों की गिरावट थमी, सेंसेक्स 305 अंक चढ़ा

रुपये में सुधार से शेयर बाजारों की गिरावट थमी, सेंसेक्स 305 अंक चढ़ा

ankit@prabhasakshi.com | Sep 12 2018 6:07PM

मुंबई। शेयर बाजारों में बुधवार को दो दिन के भारी गिरावट के सिलसिले पर रोक लगी। रुपये में सुधार के बीच एफएमसीजी, धातु और पूंजीगत सामान कंपनियों के शेयरों में लिवाली से बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 305 अंक चढ़कर 37,717.96 अंक पर पहुंच गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी ने भी 11,300 अंक का महत्वपूर्ण स्तर एक बार फिर हासिल कर लिया। इस बीच, सरकार ने कहा है कि रुपये में अनुचित रुप स गिरावट नहीं होने देगी। साथ ही ऐसी भी चर्चा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सप्ताहांत आर्थिक स्थिति की समीक्षा करेंगे। इन खबरों से बाजार की धारणा को बल मिला। 

 
अंतरबैंक विदेशी विनियम बाजार में रुपया कारोबार के दौरान 72.91 अंक के ऐतिहासिक निचले स्तर पर आने के बाद सुधरा और दोपहर के कारोबार में यह 71.86 प्रति डॉलर पर चल रहा था। इसके अलावा अगस्त में देश का निर्यात 19.21 प्रतिशत बढ़कर 27.84 अरब डॉलर रहा है। ब्रोकरों ने कहा कि इन सब वजहों से बाजार की धारणा में सुधार हुआ। इस बीच, आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा है कि सरकार और रिजर्व बैंक यह सुनिश्चित करेंगे कि रुपया अनुचित स्तर तक न गिरे। 
 
कल रुपया 72.69 प्रति डॉलर के नए सर्वकालिक निचले स्तर पर बंद हुआ था। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स सकारात्मक रुख के साथ 37,546.42 अंक पर खुला और यह 37,752.58 अंक के दिन के उच्चस्तर तक गया। घरेलू संस्थागत निवेशकों तथा खुदरा निवेशकों की लिवाली से बाजार में तेजी आई। अंत में सेंसेक्स 304.83 अंक या 0.81 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37,717.96 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान इसने 37,342 अंक का निचला स्तर भी छुआ। इससे पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स करीब 977 अंक नीचे आया था। 
 
उतार-चढ़ाव भरे निफ्टी 11,300 अंक के महत्वपूर्ण स्तर के पार निकला। अंत में निफ्टी 82.40 अंक या 0.73 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,369.90 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 11,380.75 अंक से 11,250.20 अंक के दायरे में रहा। ब्रेंट कच्चा तेल भी 79 डॉलर प्रति बैरल के स्तर को पार करने के बाद कुछ नीचे आया। बुधवार को ही औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) तथा मुद्रास्फीति के आंकड़े आने हैं। 
 
ज्यादातर एशियाई बाजारों में गिरावट का सिलसिला लगातार छठे दिन जारी रहा। इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को घरेलू संस्थागत निवेशकों ने शुद्ध रूप से 749.62 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। वहीं विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 1,454.36 करोड़ रुपये की बिकवाली की। गुरुवार को गणेश चतुर्थी के मौके पर शेयर बाजार बंद रहेंगे। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘रुपये में सुधार की वजह से बाजार में भी बढ़त रहीं।’’ 
 
नायर ने कहा कि वैश्विक संकेतक समर्थन देने वाले नहीं हैं और व्यापार को लेकर तनाव जारी है। फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि की संभावना के बीच विदेशी कोष निकासी कर रहे हैं जिससे घरेलू धारणा प्रभावित हो रही है। यदि सरकार रुपये तथा चालू खाते के घाटे के मोर्चे पर किसी तरह का हस्तक्षेप करती है तो इससे बाजार को रफ्तार मिलेगी। सेंसेक्स की कंपनियों में पावर ग्रिड 3.40 प्रतिशत चढ़ गया। आईटीसी लि. में 3.11 प्रतिशत का लाभ रहा। 
 
अन्य कंपनियों में सनफार्मा, अडाणी पोर्ट्स, कोटक बैंक, टाटा स्टील, वेदांता लि., हिंद यूनिलीवर, एलएंडटी, विप्रो, रिलायंस इंडस्ट्रीज, इन्फोसिस, बजाज आटो, एसबीआई, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी लि., ओएनजीसी और एनटीपीसी के शेयर 2.98 प्रतिशत तक चढ़ गए। वहीं दूसरी ओर एक्सिस बैंक का शेयर 2.30 प्रतिशत टूट गया। टाटा मोटर्स में 1.70 प्रतिशत, भारती एयरटेल में 1.28 प्रतिशत तथा आईसीआईसीआई बैंक में 1.07 प्रतिशत का नुकसान रहा। बीएसई मिडकैप 0.52 प्रतिशत चढ़ा। स्मॉलकैप में 0.27 प्रतिशत का नुकसान रहा। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 0.27 प्रतिशत नीचे आया। हांगकांग का हैंगसेंग 0.28 प्रतिशत और शंघाई कम्पोजिट 0.33 प्रतिशत नुकसान में रहे। शुरूआती कारोबार में यूरोपीय बाजार लाभ में चल रहे थे। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप