उद्योग जगत

कांग्रेस की मांग, पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाए सरकार

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Sep 4 2018 10:52AM

नयी दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को सरकार पर निशाना साधा और कहा कि इन दोनों पेट्रोलियम उत्पादों को तत्काल जीएसटी के दायरे में लाया जाना चाहिए। चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, 'पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी अपरिहार्य नहीं है, क्योंकि कीमत का आधार पेट्रोल और डीजल पर लगने वाला अत्यधिक कर है।

अगर कर में कटौती कर दी जाए तो कीमतों में काफी कमी आ जाएगी।' उन्होंने कहा, 'कांग्रेस मांग करती है कि पेट्रोल और डीजल को तत्काल जीएसटी के दायरे में लाया जाए।' चिदंबरम ने कहा, 'केंद्र की ओर से राज्यों को जिम्म्मेदार ठहराना बेतुकी दलील है। भाजपा भूल जाती है कि वह खुद 19 राज्यों में शासन कर रही है। पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने के लिए केंद्र और राज्यों को मिलकर काम करना चाहिए।'

दरअसल, रुपये की विनिमय दर में गिरावट और अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में तेज उछाल के बीच देश में पेट्रोल तथा डीजल की कीमतें सोमवार को अपने सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गईं। तेल कंपनियों की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल का भाव 79.15 रुपये प्रति लीटर और डीजल 71.15 रुपये प्रति लीटर के नए रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया है। दिल्ली में पेट्रोल के भाव में 31 पैसे और डीजल के भाव में 39 पैसे प्रति लीटर की नयी वृद्धि की गयी है।

शेयर करें:

लोकप्रिय खबरें

घोटालों में फंसने के बाद पाकिस्तान का राग अलापती है BJP: सुरजेवालाचुनावी मोड पर अमित शाहबिशप मुलक्कल को 12 दिन के लिये न्यायिक हिरासत में भेजा गयाअपनाएं वास्तु शास्त्र के सरल एवं प्रभावी उपाय, मिलेगी सकारात्मक ऊर्जा