छोटी आंखों को दिखाना है खूबसूरत, ऐसा हो आई मेकअप

छोटी आंखों को दिखाना है खूबसूरत, ऐसा हो आई मेकअप

मिताली जैन | Aug 7 2019 3:03PM
जिन महिलाओं की आंखें छोटी होती हैं, वह अक्सर आईमेकअप करवाते हुए झिझकती हैं। उन्हें लगता है कि आई मेकअप करने से उनकी आंखें और भी छोटी नजर आएंगी। लेकिन ऐसा तभी होता है, जब आप अपना आईमेकअप गलत तरीके से करती हैं। दरअसल, हर महिला की आंखें अलग होती हैं और उसी के अनुरूप मेकअप करना चाहिए। खासतौर से, छोटी आंखों का मेकअप तो इस तरह किया जाना चाहिए कि आंखें बड़ी व खूबसूरत लगें। तो चलिए आज हम आपको छोटी आंखों का मेकअप करने के तरीके के बारे में बता रहे हैं−
लाइनर हो पतला
छोटी आंखों में मेकअप करते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपका लाइनर पतला हो। हैवी लाइनर लगाने से आपकी आंखें और भी अधिक छोटी नजर आएंगी। वहीं आप साथ में हैवी मस्कारा अप्लाई करें। हैवी मस्कारा आंखों को ओपनअप करता है, जिससे आंखें बड़ी व खूबसूरत लगती हैं। वहीं अगर आप चाहें तो आंखों में लाइनर लगाकर उसे एक स्मज लुक दे सकती हैं। साथ ही आप नीचे व्हाइट काजल पेंसिल का इस्तेमाल करें। इस तरह से भी आंखें बेहद अटैक्टिव व बड़ी नजर आती हैं। 
अगर लगाना हो काजल
कुछ महिलाओं को काजल लगाना बेहद पसंद होता है। लेकिन अगर आपकी आंखें छोटी हैं तो आपको काजल भी अलग तरीके से लगाना चाहिए। छोटी आंखों वाली महिलाओं को काजल हमेशा आंखों के एंड पर ही लगाना चाहिए। अगर आप पूरी आंखों पर काजल लगाएंगी तो इससे आपकी आंखें छोटी नजर आएंगी। अंदर की तरफ आप व्हाइट कलर की पेंसिल लगाएं या फिर हल्का सा व्हाइट आईशैडो से उसे आउटलाइन करें।
लाइट कलर्स का इस्तेमाल
अगर आपकी आंखें छोटी हैं और आप आईमेकअप कर रही हैं तो कोशिश करें कि आईशैडो आप लाइट कलर का ही चुनें। न्यूटल व लाइट कलर आपकी आंखों को बड़ा दिखाते हैं। वहीं डार्क शेड से आपकी आंखें और भी दबी हुई नजर आती हैं। अगर आप आंखों को सच में बड़ा दिखाना चाहती हैं तो अपर वाटर लाइन पर भी ब्लैक लाइनर का इस्तेमाल करें। इससे आपकी लैशेज घनी व आंखें बड़ी नजर आती है। हालांकि यह स्टेप थोड़ा टिकी हैं, इसलिए अगर आपको इसमें परेशानी हो रही हो तो आप इसे छोड़ भी सकती हैं। 
 
मिताली जैन
 
आवीएमयूए एकेडमी की डायरेक्टर रिया वशिष्ट से बातचीत पर आधारित
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.